Advertisement

पाचन रोगों से छुटकारा पाने के लिए अपनायें ये उपाय



पाचन तंत्र मनुष्य का सबसे उपयोगी अंग है जिसके सही रहने पर व्यक्ति स्वस्थ रहता है तथा खराब होने पर मोटापा या दुबलापन देखने को मिलता है जो कि एक व्याधि है। जरूरत से ज्यादा मोटापा तथा दुबलापन से कई रोग हो जाते है। जैसे ज्यादा मोटे आदमी के पैर में ज्यादा भार होने के कारण उसके घुटने दर्द करते रहते है। और उन्हें एसिडिटी, गैस जैसी समस्याएं भी बनी रहती है। जबकि दुबले लोगों का पाचन खराब होने के कारण Metabolism rate बहुत अधिक होता है जिसके कारण उनकी energy instant vest हो जाती है और उन्हें बार-२ भूख लगने लग जाती है। शरीर को उपयुक्त energy न मिलने के कारण इन लोगों को आलस महसूस होता रहता है और थोड़ा सा काम करके ही ये लोग थक जाते है।
Digestion system home remody


इसलिए ज्यादा मोटा या दुबला होना दोनों बुरा है और ये तब सही होगा जब metabolism balance होगा और metabolism तब ही balance hoga जब हमारा digestion ठीक होगा।
पाचन से होने वाले अन्य रोग-

एसिडिटी- acidity होने पर व्यक्ति के सीनें में जलन होने लगती है और यह तब होती है जब कोई ज्यादा खाना खा लेता है और ढंग से पाचन नहीं होता है तो भोजन सडने लगता है और सीनें में जलन सी होने लगती है। यह रोग खान पान में गडबडी के कारण भी हो सकता है जो लोग समय से नहीं खातें है। इस राेग से बचने के digestive system का सही होना बहुत जरूरी है।

इस रोग का अहम कारण एन्ज़ाइम तथा पाचक रस का न मिल पाना है जिससे शरीर में तेजाबी प्रवृत्ति बढ जाती है और सीने में दर्द उत्पन्न होने लगती है। इस रोग को आयुर्वेद के गुरु rajiv dixit के अनुसार मुंह की लार से ठीक किया जा सकता है। मुंह की लार एक अदभुत औषधि है जो तेजाबीय प्रवृत्ति को कम करने में मदद करती हैं। इसलिए कहा जाता है कि बिना मंजन करें बिस्तर से उठते ही एक से दो गिलास पानी पीयें जिसे पहले के लोग ऊषापान कहते थे। जिससे ज्यादा से ज्यादा लार अंदर जायेगी और यह पेट की एसिडिटी को ठीक कर देगा।

कब्ज़- यह एक बड़ी समस्या है जो अधिकतर लोगों में बनी रहती है। इसमें पेट पूरी तरह से साफ नहीं होता है जिससे व्यक्ति relax महसूस नहीं कर पाता है। यह problem भी पाचन के कारण ही होती है।

इसे ठीक करने के लिए सुबह जब शौच के लिए जायें तो पहले दो से तीन ग्लास पानी पी लें फिर शौच को जायें। इससे आपका पेट साफ होने लगेगा और कब्ज की शिकायत दूर होने लगेगी।

note- यह मोटापा को दूर करने में भी मदद करता है क्योंकि यह पाचनक्रिया  को मजबूत बनाता है और metabolism fast or boost करने लगता है जिससे fat decrease होने लगता है। मोटापा slow metabolism से होता है। जब metabolism fast होगा तो automatic वजन घटेगा या conroal में आने लगेगा।

मंदाग्नि- इस राेग से पीडित आदमी को भूख कम लगती है क्योंकि उसके शरीर की अग्नि ढंग से जलती नहीं है जो कि भोजन को पचाने में मदद करती है। जब यह सहीं ही नही होगा तो भूख कैसे लगेगी और भोजन कैसे पचेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ